पीएच का निर्धारण

हमारा उद्देश्य 

हमारा उद्देश्य दिए गए नमूने के पीएच निर्धारित करने के लिए है l

सिद्धांत

अम्ल (एसिड) और  क्षार (बेस)

अम्ल (एसिड) वे पदार्थ होते हैं जो पानी में घोले जाने पर मुक्त हाइड्रोजन आयनों (OH+ आयनों) का निर्माण करते हैं। क्षार (बेस) वे पदार्थ होते हैं जो पानी में घोले जाने पर हाइड्रोक्सिल आयनों ((OH- आयनों) का निर्माण करते हैं। कुछ अम्ल (एसिड) आंशिक रूप से अलग होते हैं, OH +  आयनों की बहुत थोड़ी मात्रा मुक्ते करते हैं, और कमजोर अम्ल (एसिड) कहलाते हैं। अन्यत पूरी तरह से अलग हो जाते हैं, OH +  आयनों की बड़ी मात्रा मुक्त करते हैं, और प्रबल अम्ल (एसिड) कहलाते हैं। इसी तरह से, आंशिक रूप से अलग होने वाले क्षार (बेस) कमजोर क्षार (बेस) कहलाते  हैं और पूरी तरह से अलग होने वाले क्षार (बेस) प्रबल क्षार (बेस) कहलाते  हैं।

विलयन (साल्यूशन) का पीएच

पदार्थों का अम्लीय (एसिडिक) या क्षारीय (बेसिक) गुण पीएच के रूप में मापा जाता है। विलयन (साल्यूशन) का पीएच प्रति लीटर ग्राम मोल में हाइड्रोजन आयन की सांद्रता के निगेटिव लघुगणक (लोगारिद्म) के रूप में परिभाषित किया जाता है। 

                                 

यदि हाइड्रोजन आयन की सांद्रता बहुत अधिक होती है, तों पीएच का मान बहुत कम होता है। इसे पीएच स्केबल नामक 0-14 के पैमाने का उपयोग करके निर्धारित किया जाता है। इसे डेनिश रसायनविद सोरेन पेडेर लॉरिट्ज़ सोरेनसेन द्वारा पेश किया गया था।

 

                                                             

विलयन (साल्यूशन) का पीओएच                                          

पीओएच का हाइड्रॉक्सिल आयनों (OH- आयनों) की सांद्रता या  विलयन की क्षारीयता का मापन करने के लिए प्रयोग किया जाता है। पीओएच को हाइड्रॉक्सिल आयन की सांद्रता के ऋणात्मक लघुगणक (बेस 10) के रूप में परिभाषित किया जाता है।

                              

पीओएच पीएच से निकला है और समीकरण से संबंधित हैं,

                              


पीएच मापन के तरीके।
पीएच सूचक का उपयोग करके विलयन का पीएच मापा जाता है। पीएच सूचक, ऐसे पदार्थ होते हैं जो अम्लीय, क्षारीय या उदासीन विलयन के साथ संपर्क में आने पर रंग बदल देते हैं।

पीएच पेपर 

पीएच पेपर एक विशेष पेपर की स्ट्रिप हेाता है। इसे विभिन्न रासायनिक यौगिकों में स्ट्रिप डुबोकर और उसके बाद इसे सुखा कर तैयार किया जाता है। इसका किसी भी विलयन का अनुमानित पीएच पता लगाने के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है। अम्लीय या क्षारीय विलयन में डूबोने पर ये पेपर रंग बदल देते हैं।

                            

सार्वभौमिक सूचक (यूनिवर्सल इंडिकेटर) 

सार्वभौमिक सूचक (यूनिवर्सल इंडिकेटर) विभिन्न रासायनिक यौगिकों से बना  पीएच सूचक होता है। सूचक को नमूना विलयन में डालने पर मिलने वाला मिश्रण 1-14 तक पीएच मान पर रंग का आसान बदलाव दर्शाता है। इससे विलयन के अम्लीय या क्षारीय गुण का पता चलता है। यह टेस्टू साल्यू शन के रूप में व्यावसायिक रूप से उपलब्ध है।

                            

पीएच मीटर 

पीएच मीटर एक विशेष बल्ब से मिलकर बना इलेक्ट्रॉनिक उपकरण हेाता है जो टेस्ट  साल्यूमशन में मौजूद हाइड्रोजन आयन के प्रति संवेदनशील हेाता है। बल्ब द्वारा दिया गया संकेत बढ़ाया जाता है और बल्ब से जुड़े इलेक्ट्रॉनिक मीटर, के पास भेज दिया जाता है पीएच का मापन और रीडिंग प्रदर्शित करता है। पीएच पेपर की तुलना में यह अधिक सटीक मान देता है।

बहुत ही सटीक माप के लिए, प्रत्येक माप से पहले पीएच मीटर आशांकित किया जाना चाहिए। अंशांकन ज्ञात पीएच वाले कम से कम दो बफर विलयनों से किया जाना चाहिए।

                            

लाल पत्तागोभी का रस

यह नीले-बैंगनी रंग का तरल होता है। अम्लीय पदार्थों के संपर्क में आने पर, यह लाल हो जाता है। क्षारीय तत्वों के साथ संपर्क में आने पर, यह हरा या यहां तक कि पीला भी हो जाता है।